ये खबर किसी भी आम व्यक्ति के लिए राहत की बात हो सकती है. पिछले पांच महीनों से वैज्ञानिक कहते रहे हैं कि कई मरीजों में कोरोना वायरस लक्षण नहीं दिखते, इसीलिए हम हमेशा कर किसी से डर के रहते रहे हैं. लेकिन अब बड़ी राहत की बात सामने आई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि बिना लक्षण वाले कोरोना मरीजों से वायरस फैलने का खतरा बेहद कम है. 
WHO दी जानकारी
WHO में कोरोना वायरस की टेक्नीकल टीम के प्रमुख मारिया वैन केरखोव ने सोमवार रात ब्रीफिंग के दौरान खुलासा किया है कि कोरोना वायरस के लक्षण नहीं दिखने वाले मरीजों से दूसरों को संक्रमण का खतरा बहुत कम है. मारिया का कहना है कि WHO ने दुनिया के विभिन्न देशो से मिले शोध के आधार पर यह माना है कि जिन लोगों में कोरोना वायरस या फ्लू जैसे लक्षण पाए जा रहे हैं उन्हीं से संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा है. 
ICMR की रिपोर्ट भी हमारे लिए राहत भरी
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने अपनी एक ताजा रिपोर्ट में कहा है ज्यादा मामले वाले जिलों में जो कंटेनमेंट जोन हैं, उसमें रहने वाली 15-30 फीसदी जनसंख्या कोविड-19 संक्रमण से ग्रसित हैं. लेकिन इसमें भी एक राहत की बात है कि लोग ठीक भी हो रहे हैं. 
आरोग्य सेतु पर निर्भरता भी इसी वजह से ज्यादा
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि बिना लक्षण वाले कोरोना वायरस मरीजों से संक्रमण कम फैलने की बात राहत वाली हो सकती है. दरअसल अभी भी ज्यादातर भारतीयों ने आरोग्य सेतु ऐप इसी लिए डाउनलोड किया है ताकि बिना लक्षण वाले कोरोना संक्रमितों से भी सावधान रहा जा पाए. लेकिन नए शोध के बाद लोगों को राहत मिल सकती है.-जी न्यूज

Post a Comment

Previous Post Next Post